Sunday , June 24 2018
Android version

प्रोजेक्ट ट्रेबल – अब गूगल से तुरंत मिलेगी नई एंड्राॅयड अपडेट, जानिए कैसे?

वर्तमान में एंड्राॅयड आॅपरेटिंग सिस्टम दुनिया में सबसे ज्यादा लोकप्रिय और इस्तेमाल किया जा रहा है। गूगल लगातार एंड्राॅयड के नए वर्जन लाॅन्च करता रहता है और इसमें नए-नए फीचर जोड़ता रहता है। गूगल का लेटेस्ट एंड्राॅयड वर्जन 7.0 नूगट है। वहीं जल्द ही गूगल एंड्राॅयड ओ को भी लाॅन्च करने जा रहा है। लेकिन दुख की बात यह है कि ज्यादातर एंड्राॅयड स्मार्टफोन अभी भी एक-दो साल पूराने वर्जन पर चल रहे हैं। स्मार्टफोन कंपनियां अपने फोन के आॅपरेटिंग सिस्टम को कई सालों तक अपडेट ही नहीं करती है। इसके चलते यूजर लेटेस्ट फीचर इस्तेमाल करने से चूक जाते हैं।

ज्यादातर एंड्राॅयड स्मार्टफोन के पूराने वर्जन पर चलने का अन्य कंपनियां जैसे ऐप्पल भी कई बार मखौल उड़ा चुकी है। ऐप्पल अपने सभी डिवाइस को तुरंत लेटेस्ट अपडेट दे देता है। लेकिन गूगल ने भी अपने सभी एंड्राॅयड डिवाइस को लेटेस्ट वर्जन से अपडेट करने के लिए कड़े कदम उठा लिए है। गूगल ने अब प्रोजेक्ट ट्रेबल लाॅन्च किया है। लेटेस्ट वर्जन एंड्राॅयड ओ के साथ गूगल ने प्रोजेक्ट ट्रेबल लाॅन्च किया है। इसके साथ अब एंड्राॅयड स्मार्टफोन को समय पर लेटेस्ट अपडेट मिल सकेगी और अब एक साल से ज्यादा लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

कैसे काम करेगा?

प्रोजेक्ट ट्रेबल को जारी करने के लिए गूगल ने अपने ऐप इकोसिस्टम से प्रेरणा ली है। इसके अनुसार कोई भी डवलपर जब ऐप बनाता है तो वह लगभग सभी डिवाइस पर काम करती है। मतलब कि डवलपर ऐप को बनाते समय यह ध्यान रखते है कि वह ऐप धीमे-तेज प्रोसेसर, कम-ज्यादा रैम और छोटे-बड़े डिस्प्ले वाले लगभग सभी डिवाइस पर काम कर सके। इसी को ध्यान में रखते हुए गूगल ने प्रोजेक्ट ट्रेबल लाॅन्च किया है जिसमें गूगल नई एंड्राॅयड अपडेट को ज्यादातर डिवाइस के लिए लाॅन्च करेगा।

पहले इसलिए होती थी अपडेट में देरी

Android flowchart
गूगल का कहना है कि पहले नई एंड्राॅयड अपडेट लाॅन्च करने के बाद वह चिप बनाने वाली कंपनी के पास जाती थी। फिर वह कंपनी डिवाइस मेकर मतलब कि स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी के पास जाती थी। जो अपने अनुसार उस मूल एंड्राॅयड अपडेट में बदलाव कर देती थी। आगे यह डिवाइस मेकर टेक्निकल एसेप्टेंस के लिए मोबाइल कैरियर के पास इसे भेजते थे जो नई अपडेट को यूजर के इंस्टाॅल करने के लिए रिलीज करती थी। गूगल ने अपडेट जारी होने के बाद इस पूरी प्रक्रिया में तीन चरण अलग से जुड़ जाते थे। इन चरणों में अलग-अलग टीमें कुछ समय ले लेती थी। इसी के चलते नया एंड्राॅयड वर्जन आने के बाद भी कई बार स्मार्टफोन कंपनियों को अपने डिवाइस में अपडेट देने में एक साल तक का समय लग जाता था।

प्रोजेक्ट ट्रेबल के साथ एंड्राॅयड ओ पर चलने वाले सभी एंड्राॅयड डिवाइस को लेटेस्ट अपडेट तुरंत मिलेगी। गूगल एंड्राॅयड ओ को जल्द ही लाॅन्च करने जा रहा है।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

weather android apps

डाउनलोड – एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए बेस्ट मौसम ऐप्स & विजेट्स

एंड्राॅयड स्मार्टफोन को इसके विजेट्स आईफोन आदि से अलग बनाते हैं। एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए …