Sunday , August 20 2017
ringing-bells-freedom-251
ringing-bells-freedom-251

रिंगिंग बेल्स की घंटी बजना हुई बंद, वेबसाइट हुई डाउन, आजतक एक भी फोन नहीं किया डिलीवर

इस साल सबसे ज्यादा विवादों में रही खबरों की बात करें तो उनमें रिंगिंग बेल्स का नाम सबसे ऊपर आता है, जो आपको याद भी होगा। अगर आप इसके बारे में भूल गए हैं तो हम आपको बता दे कि रिंगिंग बेल्स वही कंपनी है जो दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्टफोन फ्रीडम 251 लेकर आई थी। कंपनी का स्मार्टफोन इतना सस्ता था कि वह इसे केवल 251रु में ही बेच रही थी। इस कीमत में तो स्मार्टफोन में लगने वाले पार्ट्स खरीदना ही मुश्किल होता है। वही कंपनी पूरा स्मार्टफोन बेच रही थी। हालांकि इसे लेकर कई तरह के विवाद भी उठे। लेकिन फिर भी कई लोग आगे बढ़े और कंपनी के इस स्मार्टफोन को 251 रुपए देकर आॅर्डर भी किया। लेकिन अब लगता है कि जिन लोगों ने पैसे दिए हैं वह कभी स्मार्टफोन को नहीं ले पाएंगे।

अभी रिंगिंग बेल्स कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट बिना किसी नोटिस के डाउन है। और इस बारे में कोई जानकारी भी उपलब्ध नहीं है। कंपनी का कहना है कि वह अभी भी बाजार में बनी हुई है और पहले की तरह ऑपरेट कर रही है। इसी स्टेटमेंट के दौरान कंपनी ने यह भी कहा है कि अभी वह फ्रीडम 251 स्मार्टफोन को पहले की तरह डिलीवर करने की कोशिश कर रही है। हालांकि कंपनी की तरफ से इस तरह के बयान कई बार दिए जा चुके हैं। कंपनी का तो यह भी कहना है कि उन्होंने अभी तक 70,000 स्मार्टफोन जम्मू कश्मीर, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश आदि राज्यों में डिलीवर कर भी दिए है। अभी कुछ समय पहले खबर आई थी कि कंपनी के मालिकों ने एक नई इकाई MDM इलेक्ट्रॉनिक्स भी शुरू की हैं। लेकिन कंपनी ने बयान जारी कर कहा था कि यह एक अलग कंपनी है और रिंगिंग बेल्स का इससे कोई लेना-देना नहीं हैष कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि उनके ग्राहक कम इनकम वाले लोग हैं जो अभी भी उनके प्रोडक्ट्स में रुचि ले रहे है।

कंपनी काफी लंबे समय से कह रही है कि वह फोन को जल्द ही डिलीवर कर देगी। लेकिन जमीन पर अभी तक ऐशा कुछ नहीं हुआ है। अभी कुछ समय पहले ही रिंगिंग बेल्स कंपनी के मालिकों को दिल्ली कोर्ट की ओर से एक मामले में तलब भी किया गया था। जिसके अनुसार एक प्राइवेट फर्म जिसका नाम आर्यन इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड है। कंपनी ने रिंगिंग बेल्स के खिलाफ मामला दर्ज किया था। यह मामला कंपनी के खिलाफ चेक बाउंस होने के कारण किया गया था। रिंगिंग बेल्स ने उस फर्म को 2 करोड रुपए का पेमेंट चेक से किया था जो बाद में बाउंस हो गया था। यह भी बताया जा रहा है कि इस मामले की सुनवाई 28 अप्रैल को होगी। अब यह मामला भी कंपनी के पहले के विवादों की लिस्ट में शामिल हो गया है। आपका इसके बारे में क्या कहना है? हमें कमेंट कर जरूर बताएं और ज्यादा जानकारी के लिए फोन राडार पढ़ते रहे।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

weather android apps

डाउनलोड – एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए बेस्ट मौसम ऐप्स & विजेट्स

एंड्राॅयड स्मार्टफोन को इसके विजेट्स आईफोन आदि से अलग बनाते हैं। एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए …