Tuesday , October 24 2017
blackberry mercury
blackberry mercury

ब्लैकबैरी ने थामा ‘मेक इन इंडिया’ का हाथ, देश में बनाएगा अपने स्मार्टफोन

कनाडा की स्मार्टफोन कंपनी ब्लैकबैरी ने भी ‘मेक इन इंडिया’ करने का प्लान बनाया है। कंपनी ने आॅप्टीमस इंफ्राकाॅम के साथ हाथ मिलाया है। दोनों कंपनियां मिलकर भारत, श्रीलंका, नेपाल, बांग्लादेश और नेपाल आदि देशों के लिए एंड्राॅयड फोन यहीं से बनाएगी। ब्लैकबैरी ने पहले से ही आॅप्टीमस इंफ्राकाॅम के साथ पिछले साल नंवबर से ही अपने दो स्मार्टफोन DTEK50 और DTEK60 को बेचने को लेकर साझेदारी कर रखी है। कंपनी का कहना है कि उसके भारत में ही अपने डिवाइस बनाने से भारत सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ पहल को भी बढ़ावा मिलेगा।

एक स्टेटमेंट के दौरान ब्लैकबैरी ने कहा कि इस क्षेत्रीय डील के साथ ब्लैकबैरी को पूरी वैश्विक कवरेज मिल चुकी है। अब ब्लैकबैरी को सभी बाजारों में अपने डिवाइस बना सकेगी। इसके साथ ही हम सिक्योरिटी साॅफ्टवेयर और सर्विस के मामले में अग्रणी कंपनी है।

साझेदारी के तहत ब्लैकबैरी आॅप्टीमस इंफ्राकाॅम को अपने सिक्योरिटी साॅफ्टवेयर औऱ सर्विस सूट का लाइसेंस देगा। आॅप्टीमस ब्लैकबैरी के लिए डिजाइन, मैन्यूफैक्टरिंग, सेल, प्रमोशन और कस्टमर सपोर्ट देगा। भारत, श्रीलंका, नेपाल और बांग्लादेश में ब्लैकबैरी डिवाइस को दी जाने वाली एंड्राॅयड सिक्योर साॅफ्टवेयर भी कंपनी ही देगी। वहीं ब्लैकबैरी अपने डिवाइस के लिए एंड्राॅयड सिक्योरिटी अपडेट खुद ही देगा।

ब्लैकबैरी एक समय स्मार्टफोन बाजार का बड़ा खिलाड़ी हुआ करता था। लेकिन पिछले कुछ सालों से कंपनी इस मामले में सैमसंग और ऐप्पल जैसी कंपनियों के सामने संघर्ष कर रही है। कंपनी पहले खुद के आॅपरेटिंग सिस्टम पर फोन बाजार में उतारती थी। लेकिन एंड्राॅयड की लोकप्रियता के आगे कंपनी को झुकना पड़ा और ब्लैकबैरी को भी एंड्राॅयड पर चलने वाले अपने फोन बाजार में लाने पड़े। कंपनी अपने नए एंड्राॅयड स्मार्टफोन के साथ अपनी पूराने गौरव को फिर से पाना चाहती है। इसके लिए कंपनी ने कई तरह के कदम भी उठाए है। कंपनी कई अन्य कंपनियों को हार्डवेयर बनाने और डिवाइस को विभिन्न बाजारों में बेचने के लिए साझेदारी कर रही है।

वहीं आॅप्टीमस इंफ्राकाॅम के चैयरमैन अशोक गुप्ता के अनुसार “कंपनी की निर्माण, रिटेल, डिस्ट्रीब्युशन और सपोर्ट के मोबाइल इकोसिस्टम में मजबुत भागीदारी है। और अब ब्लैकबैरी के साथ यह आत्मविश्वास आगे भी जारी रहेगा।” आपको बता दे कि अभी हाल ही में कर्नाटक सरकार ने बी आधिकारिक तौर पर ऐप्पल के आईफोन बनाने के कदम का स्वागत किया था। ऐप्पल बैंगलुरू में इसके लिए फैक्टरी की जगह भी देख चुका है। की कंपनियां अपने फोन अब देश में ही बना रही है। इस मामले में ज्यादा जानकारी के लिए फोन राडार पढ़ते रहिए।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

best smartphone (1)

5,000 रुपये से कम में बेस्ट मोबाइल फोन – जून 2017

स्मार्टफोन निर्माताओं के बीच चल रही गलाकाट प्रतिस्पर्धा के साथ किफायती स्मार्टफोन भी अब बेहतर …