Thursday , June 29 2017
ringing-bells-freedom-251
ringing-bells-freedom-251

फ्रीडम 251 स्मार्टफोन निर्माताओं का दो करोड़ रुपए का चेक बाउंस, कंपनी के खिलाफ कोर्ट में मामला दर्ज

इस साल की शुरूआत में भारतीय बाजार में एक कंपनी रिंगिंग बेल्स प्राइवेट लिमिटेड ने घोषणा की थी कि वह फ्रीडम 251 स्मार्टफोन देश में लांच करने जा रही है। कंपनी ने फोन की कीमत 251 रूपए रखी थी जिसने इसे दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्टफोन होने का तबका दे दिया था। अब एक नई रिपोर्ट के अनुसार इसी कंपनी के मालिकों को दिल्ली कोर्ट में दो करोड़ रुपए के चेक बाउंस होने के मामले में सुनवाई के लिए बुलाया गया है।

यह मामला कंपनी के खिलाफ एक प्राइवेट फर्म ने दायर किया है। कंपनी रिंगिंग प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर अनमोल गोयल और सुमित गोयल, सीईओ धारणा गोयल और प्रेसिडेंट अशोक चड्ढा को एक फर्म की शिकायत पर बुलाया गया है। यह शिकायत आर्यन इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड की ओर से दायर की गई है। इस के अनुसार आरोपी कंपनी लीगल नोटिस भेजने की बात भी पैसा चुका नहीं सकी और फिर कंपनी का चेक भी बाउंस हो गया। मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट ने भी यहीं नोट कर लिया है। रिंगिंग बेल्स का प्लान था की वह शुरुआती तौर पर 5 मिलियन फोन बेचे और करीब 30 हजार यूनिट की बुकिंग 251 रुपए में ले भी ली थी। फिर बाद में कंपनी ने वादा किया कि वह जिन ग्राहकों ने फोन की प्रीबुकिंग की थी उन्हें उनका पैसा लौटा देगी।

इस मामले में कोर्ट ने कहा कि “इन सभी आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत है जिससे इन्हें कोर्ट में बुलाया गया है। इसी कारण प्रथमदृष्टया सेक्शन 138 निगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट के अंदर इनके खिलाफ दंडनीय अपराध के तौर पर केस दाखिल कर लिया गया है। और साथ ही सभी आरोपियों को भी सम्मन भी जारी कर दिया गया है।” मामले की अगली सुनवाई 28 अप्रैल को होगी।

शिकायत के अनुसार आरोपियों ने परिवादी के नाम पर एक चेक इशू किया था। जिसके बाद 28 अक्टूबर को बैंक की ओर से अकाउंट में पर्याप्त पैसा ना होने के कारण चैक लौटा दिया गया। फ्रीडम 251 को कंपनी कुछ बेसिक स्मार्टफोन फीचर के साथ लाॅन्च करने वाली थी। इसमें 4 इंच का qHD IPS डिस्प्ले था। साथ ही पीछे की ओर 3.2 मेगापिक्सल ऑटोफोकस रियर कैमरा और 0.3 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा था। फोन के अंदर 1.3GHz का क्वाड कोर प्रोसेसर और 8GB इंटरनल स्टोरेज बताई जा रही थी जिसे 32GB तक मेमोरी कार्ड से बढाया भी जा सकता है। स्मार्टफोन के एंड्राॅयड 5.1 लाॅलीपाॅप पर काम करने की जानकारी दी गई थी और इसमें 1450 mAh की बैटरी थी।

लेकिन कंपनी के अकाउंट में पर्याप्त राशि ना होने के कारण चेक बाउंस हो गया और कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज हो गया।
कंपनी ने पहले यह भी जानकारी दी थी कि वह फ्रीडम 251 स्मार्टफोन को अपनी वेबसाइट से फरवरी में बेचने वाली है। लेकिन कुछ विवादों के कारण यह नहीं हो सका। यहां तक कि कुछ सप्ताह पहले यह भी सुनने में आया था कि ब्रांड फोन को लोगों को घर डिलीवरी भी करने जा रहा है। लेकिन इस तरह की कोई वास्तविक डिलीवरी हुई ही नहीं है। इसलिए हम अपने पाठकों को कहना चाहते हैं कि इस तरह की सस्ती और भ्रमित करने वाली डील्स से दूर ही रहें। कंपनी के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए फोन राडार के साथ बने रहे।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

best smartphone (1)

5,000 रुपये से कम में बेस्ट मोबाइल फोन – जून 2017

स्मार्टफोन निर्माताओं के बीच चल रही गलाकाट प्रतिस्पर्धा के साथ किफायती स्मार्टफोन भी अब बेहतर …