Tuesday , June 27 2017
Google India Hindi

गूगल ने की बड़ी घोषणाएं- सर्च में हिन्दी डिक्शनरी, ट्रांसलेशन हुआ सटीक, Gboard की-बोर्ड अब 22 भारतीय भाषाओं में

गूगल ने आज भारतीय इंटरनेट यूजर को ध्यान में रखते हुए कई घोषणाएं की है। गूगल ने भारतीय यूजर की विभिन्न भाषाओं को ध्यान में रखते हुए गूगल ट्रांसलेट से लेकर अपनी Gboard ऐप तक में बदलाव किए है। इसके साथ ही गूगल ने क्राॅम ब्राउजर की ट्रांसलेशन की क्षमता को भी सुधारा है और अब अंग्रेजी में मौजूद कंटेट को अन्य भारतीय भाषाओं में सटीक ट्रांसलेट कर पढ़ा जा सकेगा। गूगल की GBoard कीबोर्ड ऐप अब 22 से भी ज्यादा भारतीय भाषाओं को सपोर्ट करती है। वहीं गूगल सर्च में ही अब सीधे हिन्दी डिक्शनरी का फीचर जोड़ दिया गया है। जिसके बारे में ज्यादा आप नीचे पढ़ सकते हैं।

गूगल ट्रांसलेट हुआ पहले से बेहतर

गूगल ने एक ब्लाॅग पोस्ट में लिखा है कि भारत में 40 करोड़ से ज्यादा इंटरनेट उपभोक्ता है। लेकिन देश की केवल 20 प्रतिशत जनता ही अंग्रेजी को पूरी तरह से समझती है। इस तरह से अंग्रेजी भारतीय लोगों के लिए इंटरनेट इस्तेमाल करने की राह में बड़ी रुकावट है। हिन्दी या तमिल समझने वाले आदमी को अपनी भाषा में कंटेंट नहीं मिल पाता है क्योंकि ज्यादातर कंटेंट अंग्रेजी में ही उपलब्ध है। इसी को ध्यान में रखते हुए गूगल ने अपने ट्रांसलेशन को सटीक बनाने की कोशिश की है और इसमें न्यूरल मशीन ट्रांसलेशन जोड़ा है। गौरतलब है कि गूगल ने पिछले महीने ही ट्रांसलेट में मशीन लर्निंग आधारित ट्रांसलेशन को जोड़ा था। अब गूगल न्यूरल ट्रांसलेशन को 9 सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली भारतीय भाषाओं हिन्दी, बंगाली, मराठी, तमिल, तेलगू, गुजराती, पंजाबी, मलयालम और कन्नड़ में भी ले आया है।

क्या है न्यूरल ट्रांसलेशन?

गूगल के मुताबिक न्यूरल ट्रांसलेशन की मदद से अनुवाद करना पहले से कहीं सटीक हो गया है। गूगल ट्रांसलेट पहले एक समय पूरी एक पंक्ति का अनुवाद करता था। लेकिन अब यह पूरे वाक्य की बजाय उस पंक्ति का टुकड़ों में अनुवाद करता है। इसके साथ ही व्याकरण का इस्तेमाल कर वाक्य में शब्दों को फिर से व्यवस्थित करता है। जिससे कि वाक्य इंसान के समझने लायक बनें। आप एक उदाहरण नीचे इमेज में भी देख सकते हैं। गूगल का यह भी कहना है कि ट्रांसलेट के क्षेत्र में यह विकास पिछले दस वर्षों में हुए विकास से भी ज्यादा है। गूगल ट्रांसलेट ऐप को स्मार्टफोन पर डाउनलोड किया जा सकता है और वेबसाइट पर जाकर भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

Google Translate Hindi

गूगल क्राॅम में अनुवाद भी हुआ बेहतर

गूगल क्राॅम ब्राउजर में अनुवाद करने का फीचर बिल्ट-इन है। गूगल ने इसे भी पहले से अच्छा कर दिया है। गूगल का कहना है कि रोजाना क्राॅम यूजर 15 करोड़ से भी ज्यादा वेब पेजों का अनुवाद करतें हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए गूगल क्राॅम टीम और गूगल ट्रांसलेट टीम ने मिलकर काम किया और न्यूरल मशीन ट्रांसलेशन को क्राॅम में जोड़़ दिया है। इसके साथ ही ऊपर दी गई नौ भारतीय भाषाओं का सपोर्ट भी इसमें जोड़ दिया है। अब अंग्रेजी में मौजूद कंटेंट या किसी भी आर्टिकल को भारतीय भाषाओं में सटीक ट्रांसलेट कर पढ़ा जा सकता है।

Gboard कीबोर्ड से टाइप करें 22 भारतीय भाषाओं में

गूगल प्ले स्टोर पर दर्जनों की-बोर्ड मौजूद है। जिनमें गूगल की Gboard की-बोर्ड भी बहुत लोकप्रिय है। इसे गूगल ने पिछले वर्ष ही लाॅन्च किया था। यह पहले से ही 11 भारतीय भाषाओं को सपोर्ट करती थी। अब गूगल ने इसमें नई 11 भारतीय भाषाओं को सपोर्ट भी जोड़ दिया है। इस तरह से यह ऐप अब कुल 22 भारतीय भाषाओं को ट्रांललिरेशन के साथ सपोर्ट करती है। गूगल ने ऩई अपडेट के साथ ही नए टैक्स्ट एडिटिंग टूल जैसे सलेक्ट, काॅपी औऱ पेस्ट को इसमें जोड़ा है। अब इसमें की-बोर्ड के बटनों को बड़ा-छोटा भी आसानी से किया जा सकता है। जिससे टाइपिंग में मदद मिलेगी।

गूगल सर्च में हिन्दी डिक्शनरी

Google Hindi search dictionary
गूगल किसी भी शब्द को अंग्रेजी में सर्च करने पर उसका पूरा मतलब अंग्रेजी में पहले से ही बताता है। लेकिन अब यहीं फीचर को गूगल ने हिन्दी के लिए भी लाॅन्च कर दिया है। अब सर्च से ही किसी भी हिन्दी शब्द का मतलब पता किया जा सकेगा। गूगल का कहना है कि यह ट्रांसलिटरेशन भी सपोर्ट करता है। मतलब कि हिन्दी शब्द को रोमन में लिखने पर भी वह हिन्दी में अर्थ बता देगा। यह फीचर बहुत ही काम का है क्योंकि अब आपको किसी भी अंग्रेजी के शब्द का अर्थ पता करने के लिए अलग से डिक्शनरी ऐप डाउनलोड नहीं करनी पड़ेगी।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

weather android apps

डाउनलोड – एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए बेस्ट मौसम ऐप्स & विजेट्स

एंड्राॅयड स्मार्टफोन को इसके विजेट्स आईफोन आदि से अलग बनाते हैं। एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए …