Monday , October 23 2017
Google
Google

लोगों को जागरुक करने के लिए गूगल इंडिया चलाएगा आॅनलाइन सुरक्षा अभियान, उपभोक्ता मंत्रालय से की भागीदारी

लोगों में आॅनलाइन सुरक्षा को लेकर जागरुकता फैलाने के लिए गूगल इंडिया जल्द ही एक डिजीटल सेफ्टी कंज्यूमर अभियान चलाने जा रहा है। इसके लिए गूगल इंडिया ने भारत सरकार के उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय से भी समझौता किया है। गूगल इस अभियान को एक साल तक के लिए चलाने जा रहा है। अभियान के तहत लोगों को जागरुक करने के लिए ‘डिजीटल लिटरेसी, सेफ्टी & सिक्योरिटी’ वर्कशाॅप आयोजित की जाएगी। इसके लिए गूगल ‘ट्रेन द ट्रेनर’ माॅडल का इस्तेमाल करेगा और देश के 500 लोगों को ट्रेन करेगा जिसमें 250 उपभोक्ता संगठन भी शामिल होगें।

जिसके बाद ये ट्रेनर स्थानीय लोगों के बीच जाकर इंटरनेट सेफ्टी के बारे में उन्हें जागरुक करेगें। गूगल इस अभियान को जनवरी 2017 से शुरु कर सकता है और अपनी ट्रेनिंग सामग्री को 1200 से ज्यादा उपभोक्ता संगठनों समेत विभिन्न राज्यों के उपभोक्ता मामलों के विभागों तक पहुंचाएंगा। एक तरह के शिक्षात्मक अभियान में पूरे देश में कई वर्कशाॅप आयोजित की जाएगी। जिनमें लिखित, पोस्टर, इंटरेक्टिव क्विज और आॅडियो-विजुअल होगें जो लोगों को इंटरनेट सुरक्षा के प्रति जागरुक करेगें।

गूगल इंडिया की पब्लिक पाॅलिसी के कंट्री हेड चेतन कृष्णस्वामी के अनुसार सभी क्षेत्रों में तेज गति से बढ़ते डिजीटलीकरण के साथ ही इंरटनेट सुरक्षा का मैसेज भी सभी तक पहुंचना चाहिए जो लोग आॅनलाइन काम करते हैं। नया अभियान हमारे पहले के अभियानों की तरह ही लोगों को वेब चलाने और अपनी डिजीटल लाइफ को सुरक्षित करने की प्रति प्रोत्साहित करेगा।

लोगों को इंटरनेट के प्रति जागरुक करने के लिए गूगल की ओर से यह पहला अभियान नहीं है। इससे पहले भी गांवों में महिलाओं को इंटरनेट से जोड़ने समेत कई तरह के अभियान गूगल अंजाम दे चुका है। गूगल देश में छोटे-बड़े व्यापारियों में सुरक्षा के प्रति जागरुक करने के लिए भी गूगल इंडिया की डाटा सिक्योरिटी काउंसिल के साथ मिलकर काम कर रहा है।

नोटबंदी के बीच भारत सरकार भी लोगों को डिजीटल भुगतान और आधार कार्ड आधारित पेमेंट करने के लिए जागरुक करने के लिए एक अभियान चलाने जा रही है। इसके लिए सरकार आधार कार्ड आधारित एक ऐप भी लाने जा रही है। जिसके बाद देश के 500 जिलो और 6500 ब्लाॅकों के 14 लाख गांवों के लोगों के बीच वर्कशाॅप आयोजित कर उन्हें जागरुक किया जाएगा। आपका इस बारे में क्या कहना है? क्या इन अभियानों से लोगों के बीच इंटरनेट को लेकर जागरुकता आएगी। क्या इन वर्कशाॅप से सीख लेकर लोग सुरक्षित तरीके से इंटरनेट चला पाएंगे और डिजीटली सुरक्षित भुगतान कर पाएंगे। अपनी राय हमें कमेंट कर जरुर बताएं। साथ ही डिजीटल भुगतान से जड़ा कोई किस्सा हो तो वह भी हमारे साथ शेयर करें।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

weather android apps

डाउनलोड – एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए बेस्ट मौसम ऐप्स & विजेट्स

एंड्राॅयड स्मार्टफोन को इसके विजेट्स आईफोन आदि से अलग बनाते हैं। एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए …