Tuesday , June 27 2017
ISRO

इसरो कल बनाएगा विश्व रिकाॅर्ड, 104 सैटेलाइट एक साथ करेगा लाॅन्च

ISRO- इंडियन स्पेस रिसर्च आॅर्गेनाइजेशन कल बुधवार एक विश्व रिकार्ड कायम करने जा रहा है। इसरो एक ही राॅकेट पर 104 सैटेलाइट को सवार कर अंतरिक्ष में लाॅन्च करने जा रहा है। इसके लिए इसरो को सोमवार को अंतिम अनुमति भी मिल गई है। इस मिशन में पोलर सैटेलाइन लाॅन्च व्हीकल (PSLV) का इस्तेमाल किया जाएगा जो सैटेलाइट को अंतरिक्ष में लेकर जाएगा। इससे पहले रूस की स्पेस एजेंसी के नाम एक बार में 37 सैटेलाइट को लाॅन्च करने का रिकाॅर्ड है। इसरो इससे पहले एक बार में 23 सैटेलाइट को जून 2015 में लाॅन्च कर चुका है।

104 सैटेलाइट लाॅन्च के लिए मंगलवार सुबह 5.28AM पर 28 घंटों का काउंटडाउन भी शुरु कर दिया गया है। कल बुधवार को ठीक 9.28AM पर राॅकेट को लाॅन्च कर दिया जाएगा। लाॅन्च की जाने वाली सभी वेबसाइट का भार करीब 664 किग्रा है। इन सैटेलाइट को धरती से 505 किमी ऊंची कक्षा में स्थापित किया जाएगा।

इन 104 सैटेलाइट की बात करें तो इनमें 101 इंटरनेशनल को-पैसेंजर नैनो सैटेलाइट है। जिनमें से 96 यूनाइटेड स्टेट्स आॅफ अमेरिका की है। वहीं बाकि पांच सैटेलाइट इजराइल, कजाकिस्तान, नीदरलैण्ड्स, स्विटजरलैण्ड और यूनाइटेड अरब अमीरात की है। इनके अलावा दो अन्य भारतीय नैनो सैटेलाइट को भी लाॅन्च किया जाएगा। इतना ही नहीं, कुछ रिपोर्ट के मुताबिक इसरो का प्लान लाल ग्रह शुक्र पर भी जाने का प्लान है।

इसरो की सफलता की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी कई बार तारीफ कर चुके हैं। इसी के चलते अभी हाल ही में लाॅन्च किए गए बजट में भी वित्त मंत्री अरुण जेटली ने स्पेस डिपार्टमेंट को दिया जाने वाला पैसा 23 प्रतिशत तक बढ़ा दिया था। बजट में पैसा बढ़ाने का कारण “मंगलयान II और शुक्र मिशन के लिए” लिखा गया है। ऐसा बताया जा रहा है कि मंगल ग्रह के लिए दूसरा मिशन वर्ष 2021-2022 के बीच चलाया जा सकता है।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

ISRO

इसरो मार्च में लाॅन्च कर सकता है सार्क सैटेलाइट, वर्ष 2018 में चंद्रायान-2

इंडियन स्पेस रिसर्च आॅर्गेनाइजेशन (ISRO) इस वर्ष मार्च औऱ अप्रैल माह में दक्षिण भारतीय सहयोग …