Sunday , October 22 2017
Nasa 7

नासा ने ढूंंढे धरती जैसे 7 ग्रह, पानी होने की संभावना

नासा ने अपने वाशिंगटन स्थित मुख्यालय में एक प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर एक शानदार खोज की घोषणा की है। नासा के स्पिटजर स्पेस टेलीस्काॅप ने सात धरती जैसे दिखने वाले ग्रह ढूंढ निकाले हैं। खास बात यह है कि ये सभी ग्रह एक ही तारे के चक्कर लगा रहे हैं और एक-दूसरे के आसपास ही है। यहां तक कि इनमें से तीन ग्रह तो इंसानों के रहने लायक जोन में भी है। नासा ने इन ग्रहों पर तरल पानी होने की संभावना भी जताई है।

ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी एक तारे के चारों ओर इतनी बड़ी संख्या में चक्कर लगाते पृथ्वी जैसे ग्रह मिले हैं। इसके साथ ही इनमें पानी होने की संभावना जीवन पनपने की संभावना को भी दर्शाती है। इन ग्रहों की खोज के बाद पृथ्वी के इतर अन्य ग्रहों पर भी जीवन होने की संभावनाओं पर बहस भी छिड़ गई है। हालांकि ये ग्रह धरती से 40 प्रकाशवर्ष (235 मिलियन मील) दूर है।

इन ग्रहों को हमारे सोलर सिस्टम से बाहर होने के कारण एक्सोप्लेनेट्स कहा जा रहा है। इस सिस्टम का नाम TRAPPISt-1 दिया गया है। जो चीली के एक टेलीस्काॅप के ऊपर रखा गया है। ये ग्रह और पृथ्वी आकार और द्रव्यमान में बराबर ही है। हालांकि पृथ्वी के इतर ये ग्रह अपने धूरी पर धूमते नहीं है। जिस कारण इनके एक भाग पर अंधेरा तो दूसरे पर हमेशा प्रकाश रहता है। इसके चलते इन पर दिन-रात नहीं बनते हैं।

इन ग्रहों पर मौसम के बारे में भी अनुमान लगाए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इन ग्रहों का मौसम पृथ्वी से बिल्कुल अलग है। ये ग्रह एक-दूसरे के इतने पास है कि एक ग्रह पर खड़ा इंसान आसमान में दूसरे ग्रहों को आसानी से देख सकता है। ये पृथ्वी पर चन्द्रमा के आकार से कहीं ज्यादा बड़े दिखते हैं।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

ISRO

विश्व रिकाॅर्ड- इसरो ने लगाया अंतरिक्ष में सैटेलाइट का शतक

जिसके बारे में कई दिनों से बात हो रही थी। उसे आज इंडियन स्पेस रिसर्च …