Sunday , October 22 2017
apple-iphone-sales-demonetization
apple-iphone-sales-demonetization

नोटबंदी की घोषणा के अगले 3 दिनों में बिक गए एक लाख से ज्यादा आईफोन

8 नवंबर को नोट बंदी की घोषणा के बाद भारत सरकार ने 500 और 1000 रुपए के नोट अमान्य कर दिए थे। उसके बाद से सभी पैसे एक्सचेंज करवाने के लिए बैंकों के सामने लाइनों में खड़े है। जैसा कि एक्सचेंज पर्सनल अकाउंट से ही हो रहा है और बाकि के काले धन की कीमत जीरो हो गई है। नोटबंदी की घोषणा के बाद शुरुआती दिनों में प्रीमियम प्रोडक्ट्स की बिक्री बहुत ही बढ़ गई थी। वहीं ऐसा कहा जा रहा है कि रिटेल बिजनेस इससे बहुत ही ज्यादा प्रभावित हुआ है। प्रीमियम प्राॅडक्ट्स की बिक्री के मामले में एप्पल के आईफोन लिस्ट में टाॅप पर है।

ऐसा कहा जा रहा है कि नोटबंदी के शुरुआती दिनों में ही करीब एक लाख से ज्यादा आईफोन बिक गए थे। वहीं पूराने नोटों को कोई नहीं ले रहा था तो वहीं कुछ स्टोर्स ने बिल पर पुरानी डेट डाल कर भी पुराने नोट ले लिए। यहां तक कि कुछ स्टोर्स ने डिवाइस को उनकी रिटेल कीमत से भी ज्यादा दामों पर बेचा। इसी के साथ ही कंपनी अपनी बिक्री में करीब 20 से 30% की वृद्धि की उम्मीद कर रही है। हालांकि कुल स्मार्टफोन सेल पिछले साल की तुलना में कम बताई जा रही है। आईफोन के सभी मॉडल में से अभी हाल ही में लॉन्च किए गए आईफोन 7 और आईफोन 7 प्लस की ज्यादा डिमांड देखी गई है।

अभी आईफोन 7 का 32GB स्टोरेज वाला बेसिक मॉडल बाजार में ₹60000 में बिक रहा है। वहीं आईफोन 6 प्लस 32जीबी स्टोरेज वाला 72,000 रुपए में मिल रहा है। 128 जीबी और 256 जीबी स्टोरेज के ऑप्शन भी बाजार में है। यहां तक कि ऑनलाइन स्टोर जैसे फ्लिपकार्ट और अमेजन ने कैश ऑन डिलीवरी मोड को नोटबंदी की घोषणा के बाद पहले एक सप्ताह के लिए बंद ही कर दिया था। अभी हाल ही में ICA ने भी सरकार को कहा था कि स्मार्ट फोन को पुराने 1000 और 500 के नोट से खरीदने की अनुमति दी जाएं। सरकार की ओर से इस बारे में अभी भी जवाब आना बाकी है। ICA ने यह भी सलाह दी थी की स्मार्ट फोन कैशलेस ट्रांजेक्शन करने में सहूलियत देंगे।

ऐसा कहा जा रहा है कि स्मार्टफोन की ऑनलाइन बिक्री में 50% तक की गिरावट आई है और करीब 175 से 200 करोड़ रुपए का ट्रांसेक्शन कम हो गया है। आंध्र प्रदेश सरकार ने घोषणा की है कि वह राज्य के बीपीएल कार्ड धारक जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं उनके परिवारों को स्मार्टफोन देगी। इससे सरकार यह भी उम्मीद लगा रही है कि इससे कैशलैश ट्रांजैक्शन में वृद्धि होगी। जिससे भ्रष्टाचार कम होगा और नगदी की कमी से भी निजात दिलाएगा। कई मोबाइल वॉलेट जैसे पेटीएम में नया अकाउंट खुलने की संख्या आसमान छू रही है।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

weather android apps

डाउनलोड – एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए बेस्ट मौसम ऐप्स & विजेट्स

एंड्राॅयड स्मार्टफोन को इसके विजेट्स आईफोन आदि से अलग बनाते हैं। एंड्राॅयड स्मार्टफोन के लिए …