Sunday , August 20 2017
reliance jio mukesh ambani

रिलायंस जियो नहीं लाॅन्च करेगा खुद की कैब सर्विस

अपडेट –  एक रिपोर्ट के आधार पर हमने आपको कल बताया था कि रिलायंस जियो भविष्य में खुद की कैब सर्वस लाॅन्च कर सकता है। लेकिन वह रिपोर्ट झूठी निकली। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के एक अधिकारी रोहित बंसल ने ट्वीट कर अफवाहों को खंडन कर दिया और कहा कि ये गलत है। जियो ऐसी किसी तरह की कैब सर्विस शुरु नहीं करने जा रहा है। नीचे दिए गए ट्वीट मे आप साफ पढ़ सकते हैं।

इससे पहले – मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो ने कैब बाजार की शीर्ष कंपनियों ओला औऱ उबेर को टक्कर देने का मन बना लिया है। फैक्टर डेली की एक रिपोर्ट के मुतााबिक जियो इस वर्ष खुद की कैब सर्विस लाॅन्च कर सकता है। इसके लिए कंपनी जल्द ही एक ऐप भी लाॅन्च कर सकती है। कंपनी ने इसके लिए करीब 600 कारों के लिए आॅर्डर भी दे दिया है। इस नई सुविधा को कंपनी रिलायंस जियो कैब का नाम दे सकती है।

रिलायंस जियो के एक कर्मचारी ने फैक्टर डेली को बताया कि,” इसे अप्रैल के बाद लाॅन्च करने का प्लान है। यह छह महीने से ज्यादा का समय भी ले सकता है। यह व्यावसायिक रोल आउट प्लान पर निर्भर करेगा।” रिलायंस जियो अपने टेलीकाॅम ग्राहकों से भी अप्रैल माह के बाद ही पैसा लेना शुरु करेगा। अभी तक कंपनी जियो सिम पर सभी सर्विस फ्री ही दे रही थी।

आपको पता ही होगा कि जियो ने हाल ही में मुंबई में आयोजित कार्यक्रम में घोषणा की थी कि उसके 10 करोड़ से ज्यादा ग्राहक हो गए है और अब वह फ्री की सर्विस आगे जारी नहीं रख सकता। अप्रैल से कंपनी जियो प्राइम मेंबरशिप के तहत अपने ग्राहकों से 303 रुपए प्रति महीना लेगी। मेंबरशिप के लिए पहले 99 रुपए भी देने होगें।

जिस तरह से रिलायंस ने अपनी फ्री सर्विस से टेलीकाॅम बाजार पर कब्जा जमाया है। ठीक उसी तरह कैब मार्केट में भी अपनी पकड़ जमाने का कंपनी का प्लान है। इसके लिए कंपनी शुरु में कुछ शानदार आॅफर भी ला सकती है। इसके लिए कंपनी ने एक कंसल्टिंग फर्म E&Y को भी काम पर लगाया है।

अपनी कैब सर्विस के लिए कंपनी महिन्द्रा और हुंडई से कारें खरीद सकती है। जैसा कि हमने आपको पहले बताया कंपनी कारों का आॅर्डर दे भी चुकी है। ऐसा बताया जा रहा है कि कैब सर्विस में धूसने की तैयारी कंपनी करीब एक साल से ही कर रही है। कंपनी अपनी कैब सर्विस पहले बैंगलूरु और चेन्नई में शुरु कर सकती है जिसके बाद कंपनी का इरादा दिल्ली औऱ मुंबई की ओर रुख करने का है।

हालांकि यह अभी अंदाजा ही है औऱ इस बारे में कुछ भी आधिकारिक नहीं है। लेकिन भविष्य में वाकई जियो कैब सर्विस चालू होती है तो यह ओला और उबेर के लिए किसी खतरे की घंटी से कम नहीं है। दोनों कंपनियां देश के विभिन्न शहरों में पहले से ही ड्राइवरों की हड़ताल से जूझ रही है।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

Amazon drone delivery

अमेजन कर रहा भारत में ड्रोन से पैकेज डिलीवरी की तैयारी

ईमानदारी से कहें तो भारत एक ऐसी जगह नहीं है जहां आप आसानी से ड्रोन …