Thursday , June 29 2017
reliance-jio-4g-launch
reliance-jio-4g-launch

रिलायंस जियो की ग्राहक वृद्धि दर 50% घटी, मोतीलाल ओसवाल रिपोर्ट का दावा

रिलायंस जियो ने अपने सर्विसेज देश में इसी वर्ष 5 सितम्बर को लाॅन्च की थी। तब कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर और चेयरमैन मुकेश अंबानी ने अपने कर्मचारियों को 100 मिलियन ग्राहक जोड़ने का लक्ष्य दिया था। लेकिन ऐसा लगता है कि कंपनी यह लक्ष्य अभी तो प्राप्त नहीं कर पाएगी। एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ग्राहक वृद्धि दर 50 प्रतिशत तक घट गई है। मोतीलाल ओसवाल एक ब्रोकरेज फर्म है और इसने अपने एक रिपोर्ट में कहा है कि कंपनी ने लाॅन्च होने के अगले 25 दिनों में ही करीब 16 मिलियन ग्राहक जोड़ लिए थे। लेकिन उसके अगले 45 दिनों में कंपनी केवल 17-24 मिलियन ग्राहक ही जोड़ पाई है। फर्म ने यह रिपोर्ट रिलायंस जियो के मैनेजमेंट के सामने यह रिपोर्ट प्रजेंट की है।

रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस जियो आउटलेट को ग्राहकों की ओर से इंटरनेट स्पीड संबंधी शिकायतें भी मिली है। यूजर ने कंपनी को बताया है कि उन्हें पिछले तीन महीनों से स्पीड बहुत कम मिल रही है। रिपोर्ट के मुताबिक यूजर को पिछले तीन महीनों में करीब 70-80 प्रतिशत तक स्पीड में कमी मिली देखने को मिली है।

कुछ समय पहले, हमने भी आपको बताया था कि देश में स्पीड के मामले में रिलायंस जियो के 4G की स्पीड सबसे कम है। वहीं दूसरी ओर एयरटेल 4G की स्पीड इस मामले में सबसे तेज है। औसत स्पीड की बात करें तो रिलायंस जियो की स्पीड 6.2Mbps आ रही है, वहीं एयरटेल अपने ग्राहकों को 11.44Mbps की स्पीड दे रहा है।

रिलायंस जियो के लाॅन्च के बाद एक अन्य रिपोर्ट ने भी दावा किया था कि ज्यादातर ग्राहक जियो की सिम को दूसरी सिम के तौर पर ही इस्तेमाल कर रहे हैं। यहां तक कि कई ग्राहकों ने तो अपनी पूरानी सिम तो अभी तक बदला भी नहीं है और उसे पहले की तरह ही इस्तेमाल कर रहे हैं। ज्यादातर यूजर ने जियो की सिम कार्ड बस इसलिए खरीदा जिससे कि वे इसका अनलिमिटेड इंटरनेट और काॅल का फायदा उठा सके।
मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट के मुताबिक फ्री सिम कार्ड बांटने के अलावा रिलायंस जियो को सरकार के 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करनी की घटना के बाद ग्राहकों की संख्या में बहुत प्रभाव पड़ा है। रिटेल आउटलेट में ग्राहकों की संख्या में पिछले एक महीने में करीब 40-50 प्रतिशत तक कमी देखने को मिली है।

रिपोर्ट यह भी कहती है कि कंपनी की ओर से की गई इन्वेस्टमेंट को देखते हुए जियो को मुनाफा कमाने में करीब 8-10 साल तक लग सकते हैं। अभी कंपनी लगभग सबकुछ फ्री में ही दे रही है। इसलिए यह भी देखना रोचक होगा कि कंपनी किस तरह अपनी सर्विस के लिए यूजर से पैसा लेगी। लेकिन जैसा कि ज्यादातर यूजर जियो को दूसरी सिम की तरह ही इस्तेमाल कर रहे हैं तो हो सकता है कंपनी की ओर से पैसा लेने पर वह सिम ही बंद कर दे। इससे भी कंपनी के ग्राहक वृद्धि दर में कमी आएगी। क्या आप भी जियो सिम इस्तेमाल कर रहे हैं? जियो सिम बदलने को लेकर आपके क्या विचार है? कंपनी अपनी सेवाओं के लिए पैसा लेने लगे, क्या तब भी आप जियो ही इस्तेमाल करेंगें, हमें कमेंट सेक्शन में जरुरु बताएं।

आप टेकसंदेश के Guides/ How To सेक्शन में जाकर भी अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्वीटर या यूट्यूब पर बने रहें।

Check Also

बहुत काम के हैं ये 15 गूगल क्रोम एक्सटेंशन! क्या आपने डाउनलोड किए?

गूगल क्रोम एक्सटेंशन बहुत छोटी साइज के प्रोग्राम होते हैं जो आपके ब्राउजर में नए …